पीएचईडी की 33वीं एसएलएसएससी की बैठक संपन्न, 1 लाख से अधिक जल कनेक्शनों को मिली स्वीकृति।

 


पीएचईडी की 33वीं एसएलएसएससी की बैठक संपन्न, 1 लाख से अधिक जल कनेक्शनों को मिली स्वीकृति।


छोटा अखबार।

जल जीवन मिषन के तहत अतिरिक्त मुख्य सचिव, जन स्वास्थ्य अभियान्त्रिकी डॉ. सुबोध अग्रवाल की अध्यक्षता शुक्रवार को हुई 33वीं राज्य स्तरीय परियोजना स्वीकृति समिति (एसएलएसएससी) की बैठक में करीब 1 लाख 20 हजार 465 नए हर घर जल कनेक्शन के लिए स्वीकृति दी गई। इसके अलावा बैठक में जल जीवन मिशन के तहत सहायक गतिविधियों के संचालन के लिए 2022-23 की 644 करोड़ 55 लाख रूपए की योजना तथा 173 करोड़ 66 लाख रूपए की 2022-23 की वाटर क्वालिटी एण्ड मॉनिटरिंग सर्विसलांस की योजना को भी मंजूरी दी गई।

डॉ. अग्रवाल की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में डूंगरपुर जिले की 322 करोड़ 28 लाख रूपए की 98 लघु पेयजल परियोजनाओं को स्वीकृति मिली। इसके तहत जिले के 98 गांवों में 33 हजार 233 घरों को हर घर जल कनेक्शन से जोड़ा जाएगा। साथ ही, उदयपुर जिले के 203 गांवों में   42 हजार 975 घरों में जल कनेक्शन देने के लिए 244.82 करोड़ की 141 लघु परियोजनाओं, सीकर जिले के 99 गांवों में 20 हजार 970 घरों में जल कनेक्शन देने के लिए 146.18 करोड़ की 59 लघु परियोजनाओं, प्रतापगढ़ जिले के 65 गांवों में 10 हजार 360 घरों में जल कनेक्शन देने के लिए 97.09 करोड़ की 65 लघु परियोजनाओं, धौलपुर जिले के 35 गांवों में 5 हजार 433 घरों में जल कनेक्शन देने के लिए 79.95 करोड़ की 5 लघु परियोजनाओं, सिरोही जिले के 15 गांवों में 4 हजार 150 घरों में जल कनेक्शन देने के लिए 30.94 करोड़ की 15 लघु परियोजनाओं, श्रीगंगानगर जिले के 13 गांवों में 784 घरों में जल कनेक्शन देने के लिए 8.46 करोड़ की 6 लघु परियोजनाओं, सवाई माधोपुर जिले के 2 गांवों में 1321 घरों में जल कनेक्शन देने के लिए 7.45 करोड़ की 2 लघु परियोजनाओं, चित्तौड़गढ़ जिले के 3 गांवों में 1 हजार 97 घरों में जल कनेक्शन देने के लिए 8.14 करोड़ की 2 लघु परियोजनाओं तथा बारां जिले के एक गांव के 142 घरों को हर घर जल कनेक्शन से जोड़ने के लिए 1.58 करोड़ की एक लघु परियोजना को स्वीकृति दी गई। 


एसएलएसएससी की बैठक में बाड़मेर जिले में 425 आरओ प्लांट लगाने के लिए 90 करोड़ रूपए की स्वीकृति दी गई। धौलपुर जिले के 265 गांवों को कालीतीर लिफ्ट योजना से जोड़ने की वृहद परियोजना की डीपीआर तैयार करने के लिए 2 करोड़ 89 लाख रूपए की स्वीकृति दी गई। इसके अलावा बाड़मेर जिले के 43 गांवों में जेजेएम कार्यों की डीपीआर तैयार करने के लिए 20.61 लाख रूपए, जैसलमेर जिले के 34 गांवों में जेजेएम कार्यों की डीपीआर तैयार करने के लिए 13.69 लाख रूपए तथा चितौड़गढ़ जिले में 63 स्कूल-आंगनबाड़ियों को जल कनेक्शन से जोड़ने के लिए 22.07 लाख रूपए की स्वीकृति भी दी गई। 


Comments

Popular posts from this blog

देश में 10वीं बोर्ड खत्म, अब बोर्ड केवल 12वीं क्‍लास में

आज शाम 7 बजे व्यापारी करेंगे थाली और घंटी बजाकर सरकार का विरोध

रीको में 238 पदों की होगी सीधी भर्ती सरकार के आदेश जारी 

मौलिक अधिकार नहीं है प्रमोशन में आरक्षण — सुप्रीम कोर्ट

10वीं और 12वीं की छात्राओं के लिऐ खुशखबरी, अब नहीं लगेगी फीस

फ़ार्मा कंपनियां डॉक्टरों को रिश्वत में लड़कियां उपलब्ध कराती हैं — प्रधानसेवक

ग्राम पंचायत स्तर पर युवाओं को मिलेगा रोजगार