Posts

Showing posts from August 8, 2020

समय पर पूरा होगा राजस्थान पेट्रोलियम रिफायनरी कार्य — एसीएस माइन्स

Image
समय पर पूरा होगा राजस्थान पेट्रोलियम रिफायनरी कार्य — एसीएस माइन्स छोटा अखबार। अतिरिक्त मुख्य सचिव माइन्स एवं पेट्रोलियम डाॅ. सुबोध अग्रवाल ने बताया है कि एसपीसीएल राजस्थान रिफायनरी (एचआरआरएल) की सभी इकाइयों के प्रोसेस लाइसेंसर का काम पूरा कर लिया गया है वहीं रिफायनरी में आधारभूत संरचना के अधिकांश कार्य प्रगति पर है। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार और रिफायनरी प्रबंधन का प्रयास है कि परियोजना का कार्य निर्धारित समय सीमा अक्टूबर, 22 तक पूरा कर लिया जाए और मार्च, 23 तक व्यावसायिक उत्पादन आरंभ कर दे। उन्होंने रिफायनरी के अधिकारियों को निर्देश दिए कि कोविड-19 के कारण प्रभावित कार्य को तय समय सीमा में पूरा किया जाए। एसीएस माइन्स डाॅ. सुबोध अग्रवाल शुक्रवार को सचिवालय में वीडियो काॅन्फ्रेसिंग के माध्यम से बाड़मेर रिफायनरी की कार्य प्रगति की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने बताया कि एचपीसीएल और राजस्थान सरकार के इस संयुक्त उद्यम की खास बात यह है कि यहां रिफायनरी और पेट्रोकेमिकल काॅम्पलेक्स दोनों एकीकृत रुप से बनाया जा रहा है। रिफायनरी में बीएस अप मानक के उत्पाद का उत्पादन होगा। डाॅ. अग्रवाल ने एसप

व्यंग्य संग्रह 'बहुमत की बकरी' उपलब्ध है आपके लिए

Image
व्यंग्य संग्रह 'बहुमत की बकरी' उपलब्ध है आपके लिए छोटा अखबार। व्यंग्यकार प्रभात गोस्वामी के पहले व्यंग्य संग्रह 'बहुमत की बकरी' अब आपके लिये उपलब्ध है। 128 पृष्ठ के इस व्यंग्य संग्रह में कुल 49 व्यंग्य संकलित किये गए हैं। संग्रह की भूमिका देश के सुपरिचित कवि, व्यंग्यकार और नेशनल बुक ट्रस्ट, दिल्ली के संपादक डॉ लालित्य ललित ने लिखी है। निखिल प्रकाशन समूह, आगरा ने इसका प्रकाशन किया है।  व्यंग्य जगत के लोगों का मानना है कि व्यंग्यकारों ने सामाजिक और राजनीतिक विसंगतियों, विडम्बनाओं पर व्यंग्य के माध्यम से गहरी चोट कीं हैं। व्यंग्य का चुटीलापन व्यक्ति के चित्त सबसे जल्दी प्रभावित करता है और इसकी प्रतिक्रिया भी तुरंत होती है।  व्यंग्य जगत का कहना है कि बहुमत की बकरी जैसे अनूठे शीर्षक वाले अपने पहले व्यंग्य संग्रह में प्रभात गोस्वामी ने हमारे परिवेश के बहुलांश को अपने व्यंग्य लेखों की परिधि में समेट लिया है। गोस्वामी का यह पहला संग्रह इस बात की ताईद करता है कि व्यंग्य स्थितियों में नहीं, देखने वाले की नज़रों में होता है। 'बहुमत की बकरी', व्यंग्य संग्रह पर वरिष्ठ व्यंग

सरकार ने युवाओं के लिये खोला पिटारा, 7 हजार से अधिक पदों पर होगी भर्ती 

Image
सरकार ने युवाओं के लिये खोला पिटारा, 7 हजार से अधिक पदों पर होगी भर्ती  छोटा अखबार। प्रदेश के सभी जिलों में ब्लॉक स्तर तक संचालित चिकित्सा एवं स्वास्थ्य केन्द्रों के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी (सीएचओ) के 6310 पदों पर संविदा आधार पर भर्ती जल्द की जाएगी। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इसके लिए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के तहत राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनएचएम) के प्रस्ताव को स्वीकृति दे दी है। इस निर्णय से स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र में युवाओं को रोजगार के नए अवसर मिल सकेंगे।  प्रस्ताव के अनुसार, आयुष्मान भारत अभियान के तहत प्रदेश में उप-स्वास्थ्य केन्द्र स्तर तक सभी स्वास्थ्य संस्थानों को वर्ष 2022 तक हैल्थ एण्ड वैलनेस सेंटर के रूप में क्रियाशील किया जाना है। इस क्रम में वर्ष 2019-20 के दौरान विभिन्न स्वास्थ्य केन्द्रों के लिए सीएचओ के 2310 संविदा पदों पर भर्ती की प्रक्रिया विज्ञप्ति जारी होने के बाद स्थगित कर दी गई थी। उक्त पदों सहित वर्ष 2020-21 के दौरान स्वीकृत सीएचओ के 4000 नए संविदा पदों पर अब शीघ्र भर्ती की जाएगी।  मुख्यमंत्री ने सीएचओ के कुल 6310 पदों पर संविदा के आधार पर भर्त