Posts

Showing posts from December 31, 2019

किसानाें को तत्काल मदद — मुख्यमंत्री 

Image
किसानाें को तत्काल मदद — मुख्यमंत्री  छोटा अखबार। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार को कृषि, टिड्डी नियन्त्रण दल एवं अन्य अधिकारियों से टिड्डी दलों की रोकथाम के कार्यों की जानकारी ली। आयोजित कार्यक्रमों में उन्हाेंने कहा कि सरकार ने टिड्डी दलों की समस्या से निजात के लिए टिड्डी चेतावनी संगठन के साथ पर्याप्त संसाधन व कार्मिक लगाए हैं। सरकार किसानों को राहत पहुंचाने में कोई कमी नहीं छोडे़गी। टिड्डी से प्रभावित क्षेत्रों के लिए आवश्यक दवाओं एवं स्प्रे आदि के लिए कोई कमी नहीं रखी जायेगी। नुकसान के आंकलन के लिए आज से ही विशेष गिरदावरी करवाये जाने के निर्देश दिए गये हैं। इसके आधार पर किसानों को सहायता प्रदान करवाई जायेगी।  मुख्यमंत्री ने कहा कि आमतौर पर रबी की गिरदावरी मार्च अथवा अप्रैल माह में होती है। लेकिन इस बार किसानाें को राहत पहुंचाने के लिए विशेष गिरदावरी करवाई जा रही है। किसानाें को तत्काल मदद दिलाने के लिए गिरदावरी का कार्य त्वरित गति से करने के निर्देश दिए गए हैं। इस दौरान मुख्यमंत्री को किसानाें ने बताया कि करीब दस दिन पूर्व आए टिड्डी दल ने खेताें में खड़ी जीरे, इसबगोल एवं अरं

माल एवं सेवा कर (संशोधन) अध्यादेश, 2019 जारी

Image
माल एवं सेवा कर (संशोधन) अध्यादेश, 2019 जारी छोटा अखबार। राज्य सरकार ने राजस्थान माल एवं सेवा कर (संशोधन) अध्यादेश, 2019 जारी किया है। अध्यादेश से राज्य में माल एवं सेवा कर प्रणाली लागू करने में सुगमता होगी। आपके आस—पास हो रही किसी भी घटना के समाचार, फोटो और वीडियो हमें भेजे। ई—मेल या वॉट्सएप नम्बर—9414816824 पर! आपकी खबरों को दिखाया जायेगा। उक्त संशोधन 1 जनवरी 2020 से प्रभावी होगा।1 जुलाई, 2017 को पूरे देश में गुड्स एंड टैक्स (जीएसटी) लागू होने एवं जीएसटी परिषद से मंजूर होने के बाद केन्द्र सरकार ने उद्यमियों को रिटर्न दाखिल करने के सम्बध में होने वाली असुविधाओं को देखते हुए केन्द्रीय माल एवं सेवा कर (संशोधन) विधेयक, 2019 लोकसभा में पारित किया था। केन्द्र सरकार के संशोधन विधेयक के अनुरूप ही राज्यो में भी संशोधन विधेयक पारित किया जाना है। वर्तमान में राज्य विधानसभा का सत्र नहीं चल रहा है। इस लिए यह संशोधन अध्यादेश के माध्यम से किया गया।

पुरुषों को पिता बनने से रोकेगा इंजेक्शन

Image
पुरुषों को पिता बनने से रोकेगा इंजेक्शन छोटा अखबार। भारतीय शोधकर्ताओं ने दावा किया है कि उन्होंने दुनिया का पहला ऐसा इंजेक्शन बना लिया है, जो पुरुषों को पिता बनने से रोकेगा। इंजेक्शन 13 साल तक कॉन्ट्रासेप्टिव की तरह काम करेगा। शोधकर्ताओं को कहना है कि यह एक रिवर्सेवल दवा है यानी ज़रूरत पड़ने पर दूसरी दवा के ज़रिए पहले इंजेक्शन के प्रभाव को ख़त्म किया जा सकता है। आपके आस—पास हो रही किसी भी घटना के समाचार, फोटो और वीडियो हमें भेजे। ई—मेल या वॉट्सएप नम्बर—9414816824 पर! आपकी खबरों को दिखाया जायेगा। इंजेक्शन को इंडियन कांउसिल ऑफ़ मेडिकल रिसर्च ने विकसित किया है। वैज्ञानिक डॉक्टर आरएस शर्मा के अनुसार क्लीनिकल ट्रायल के लिए 25- 45 आयु के पुरुषों को चुना गया। इस शोध के लिए ऐसे पुरुषों को चुना गया जो स्वस्थ थे और जिनके कम से कम दो बच्चे थे। ये वो पुरुष थे जो अपने परिवार को आगे नहीं बढ़ाना चाहते थे और नसबंदी करना चाह रहे थे। इन पुरुषों के साथ-साथ उनकी पत्नियों के भी पूरे टेस्ट किए गए जैसे हिमोग्राम, अल्ट्रासाउंड आदि। इसमें 700 लोग क्लीनिकल ट्रायल के लिए आए और केवल 315 ट्रायल के मानदंडो पर खर