उत्तर भारत का पहला स्कीन बैंक अस्पताल बना एसएमएस अस्पताल

उत्तर भारत का पहला स्कीन बैंक अस्पताल बना एसएमएस अस्पताल

छोटा अखबार।
सवाई मानसिंह हॉस्पिटल की सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक में आज स्कीन बैंक शुरू हुआ। आपको बता दे कि राजस्थान ही नहीं बल्कि उत्तर भारत का पहला स्कीन बैंक है। जहां स्कीन को सुरक्षित रखा जा सकेगा और ऐसे मरीज को लगाई जा सकेगी जिसकी स्कीन पूरी तरह से जल चुकी है। रोटरी क्लब की ओर से टोंक रोड स्थित सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक में बनाए इस स्कीन बैंक में स्कीन को कैमिकल ट्रीटमेंट कि मदद से 5 साल तक सुरक्षित रखा जा सकेगा।
SMS हॉस्पिटल में स्कीन बैंक का आज मुख्य सचिव ऊषा शर्मा ने शुभारम्भ किया। इस मौके पर मेडिकल एज्युकेशन डिपार्टमेंट के प्रमुख शासन सचिव वैभव गालरिया, SMS हॉस्पिटल के अधीक्षक डॉ. विनय मल्होत्रा भी उपस्थित रहे। एसएमएस हॉस्पिटल के स्कीन एवं बर्न यूनिट के हैड और स्कीन बैंक के नोडल ऑफिसर डॉ. राकेश जैन का दावा है कि ये उत्तर भारत का पहला स्कीन बैंक है। उन्होंने बताया कि ऐसे मामले जहां मरीज 20-30 फीसदी जल जाता है तो वहां डॉक्टर पीड़ित की त्वचा का उपयोग करते हैं, लेकिन जब बॉडी 60 फीसदी से अधिक जल जाती है तो मरीज को स्किन बैंक से त्वचा की आवश्यकता होती है। ऐसे में स्किन बैंक की उपयोगिता बढ़ जाती है।

Comments

Popular posts from this blog

देश में 10वीं बोर्ड खत्म, अब बोर्ड केवल 12वीं क्‍लास में

आज शाम 7 बजे व्यापारी करेंगे थाली और घंटी बजाकर सरकार का विरोध

रीको में 238 पदों की होगी सीधी भर्ती सरकार के आदेश जारी 

मौलिक अधिकार नहीं है प्रमोशन में आरक्षण — सुप्रीम कोर्ट

10वीं और 12वीं की छात्राओं के लिऐ खुशखबरी, अब नहीं लगेगी फीस

फ़ार्मा कंपनियां डॉक्टरों को रिश्वत में लड़कियां उपलब्ध कराती हैं — प्रधानसेवक

ग्राम पंचायत स्तर पर युवाओं को मिलेगा रोजगार