प्रदेश में दुग्ध संबल योजना में अनुदान 2 रुपये से बढ़ाकर 5 रुपये किया

 प्रदेश में दुग्ध संबल योजना में अनुदान 2 रुपये से बढ़ाकर 5 रुपये किया


प्रदेश में चल रही दुग्ध संबल योजना में सरकार ने अनुदान राशि 2 रुपये से बढ़ाकर 5 रुपये कर किसानों को राहत प्रदान की है। 



छोटा अखबार।

विधान सभा में चल रहे बजट सत्र में गोपालन मंत्री प्रमोद भाया ने कहा कि राज्य सरकार दुग्ध उत्पादकों के प्रति पूर्ण समर्पित है और सरकार ने बजट घोषणा में दुग्ध संबल योजना के तहत दिए जा रहे 2 रुपये प्रति लीटर अनुदान को बढ़ाकर 5 रुपये किया है। 

उन्होने यह बात प्रश्नकाल में पूछे गये पूरक प्रश्न के जवाब में कही। श्री भाया ने कहा कि विधान सभा क्षेत्र नदबई के गांव तलछेरा में दुग्ध उत्पादन सहकारी समिति अस्तित्व में है, परंतु पिछले माह से दुग्ध संकलन घटने के कारण बंद पड़ी है। उन्होंने सदस्य को आश्वस्त करते हुए कहा कि इसी माह अधिकारियों को मौके पर भेजकर इस संबंध में जांच करवाई जाएगी और पर्याप्त मात्रा में दुग्ध संकलन होने पर दुग्ध संकलन केंद्र के साथ मिल्क चिल्लर लगाने पर भी विचार किया जाएगा। गोपालन मंत्री ने कहा कि वर्तमान में भरतपुर जिला मुख्यालय पर संघ का डेयरी संयंत्र कार्यरत है और संयंत्र से नदबई क्षेत्र की दूरी भी मात्र 50 किलोमीटर है। वर्तमान में 700-800 लीटर दुग्ध का संकलन किया जा रहा है। इस गॉव में और आस-पास के क्षेत्र में यदि दुग्ध संकलन की मात्रा के आधार पर 1000 से 1500 लीटर क्षमता हो तो बीएमसी स्थापित की जा सकती है।


Comments

Popular posts from this blog

देश में 10वीं बोर्ड खत्म, अब बोर्ड केवल 12वीं क्‍लास में

आज शाम 7 बजे व्यापारी करेंगे थाली और घंटी बजाकर सरकार का विरोध

रीको में 238 पदों की होगी सीधी भर्ती सरकार के आदेश जारी 

मौलिक अधिकार नहीं है प्रमोशन में आरक्षण — सुप्रीम कोर्ट

10वीं और 12वीं की छात्राओं के लिऐ खुशखबरी, अब नहीं लगेगी फीस

फ़ार्मा कंपनियां डॉक्टरों को रिश्वत में लड़कियां उपलब्ध कराती हैं — प्रधानसेवक

ग्राम पंचायत स्तर पर युवाओं को मिलेगा रोजगार