मध्यप्रदेश में विधानसभा कार्यसूची से फ्लोर टेस्ट गायब 

मध्यप्रदेश में विधानसभा कार्यसूची से फ्लोर टेस्ट गायब 


छोटा अखबार। 
सोमवार 16 मार्च 2020 से शुरूहो रहे वाले मध्य प्रदेश विधानसभा सत्र की कार्यसूची जारी हुई, तो उसमें फ्लोर टेस्ट का ज़िक्र नहीं होने पर भारतीय जनता पार्टी ने नाराज़गी व्यक्त की  है।



मध्यप्रदेश में राजनीतिक घटनाक्रम अचानक पलटा खाने से बीजेपी के मनसूबों पर पानी फिरता नजर आ रहा है। बीजेपी का कहना है कि शनिवार को राज्यपाल लालजी टंडन ने कहा था कि सोमवार को विधानसभा में उनके अभिभाषण के फ़ौरन बाद कमलनाथ सरकार को फ्लोर टेस्ट का सामना करके बहुमत साबित करना होगा। वहीं दुसरी ओर स्थिति ये है कि राज्यपाल के कहने के बावजूद सोमवार के लिए विधानसभा की कार्यसूची में फ्लोर टेस्ट के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई है।



जब मुख्यमंत्री कमलनाथ से फ्लोर टेस्ट के बारे में पूछा तो उन्होंने मीडिया से ऑल इज़ वेल कहा था।
मुख्यमंत्री कमलनाथ ने रविवार देर रात एक बयान में कहा कि मुझे राज्यपाल का फोन आया था, विधानसभा शांतिपूर्वक चले इसे लेकर हमारे बीच चर्चा हुई है।‬ मैं भी यह चाहता हूं कि विधानसभा शांतिपूर्वक चले और इसके लिए मै कल स्पीकर से चर्चा करूंगा। फ्लोर टेस्ट का निर्णय स्पीकर को लेना है। सरकार पूरी तरह से सुरक्षित है।
इस बयान पर मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा कि कमलनाथ फ्लोर टेस्ट से भाग रहे हैं और यहां वहां की बात कर रहे हैं। सदन का कामकाज सरकार तय करती है जिसे स्पीकर सम्पन्न कराता है। कमलनाथ सरकार अल्पमत में है और हम सोमवार को फ्लोर टेस्ट चाहते हैं।


Comments